Home / 2017 / June

Monthly Archives: June 2017

वेब समाचारः पारंपरिक परिभाषाओं से आगे

web news

शालिनी जोशी… वेब समाचार आखिर पारंपरिक मीडिया के समाचारों से कैसे अलग है. इसमें ऐसा क्या विशिष्ट है जो इसे टीवी, रेडियो या अख़बार की ख़बर से आगे का बनाता है, उसे और व्यापक बना देता है. कहने को तो वेब समाचार वैसा ही है जैसा पारंपरिक मीडिया का समाचार ...

Read More »

वेब जर्नलिज्‍म : नए जमाने के मीडिया को ऐसे समझें

new_media

विजय के. झा।  प्रिंट और ब्रॉडकास्‍ट के बाद अब जमाना न्‍यू मीडिया का है। जवानी की ओर बढ़ रहे इस मीडिया ने नौजवानों को अपनी ओर खूब खींचा है। न्‍यू मीडिया यानी क्‍या परिभाषा के लिहाज से देखें तो न्‍यू मीडिया में वेबसाइट, ऑडियो-वीडियो स्‍ट्रीमिंग, चैट रूम, ऑनलाइन कम्‍युनिटीज के ...

Read More »

भारत में मीडिया स्वामित्व: हालात और चुनौतियां

media

दिलीप ख़ान | मीडिया के पत्रकारिता और उद्योग के पक्ष को अलग–अलग कर नहीं देखने के चलते मिशन, सरोकार और भावुकता जैसे शब्दों को टीवी और प्रिंट के इस साम्राज्य में जब कोई तलाशता है तो उसे असफ़लता हासिल होती है। मीडिया कंपनियां शेयर बाज़ार में ठीक उसी तरह सूचीबद्ध ...

Read More »

बाजार होड़ में फंसी विकास पत्रकारिता

women-lead-development

अन्‍नू आनन्‍द। कोई भी रिपोर्ट/स्‍टोरी बेहतर और प्रभावी कैसे हो सकती है? अच्‍छी और प्रभावी स्‍टोरी की परिभाषा क्‍या है? समाचार कक्षों में बेहतर स्‍टोरी कौन सी होती है? अजीब बात यह है कि न्‍यूज रूम में इन मुददों पर कभी बहस नहीं होती? लेकिन फिर भी ‘रूचिकर और असरदार ...

Read More »

जानिए क्या होती हैं टीवी न्यूज़ हेडलाइंस?

news-report

संदीप कुमार टीवी न्यूज का फॉर्मेट, प्रिंट मीडिया के मुकाबले बिल्कुल अलग होता है। यहां शब्दों, कॉलम, पेज में बात नहीं होती बल्कि फ्रेम्स, सेकंड्स, मिनट्स का खेल होता है। प्रिंट में कहा जाता है कि इस खबर को दो कॉलम में ले लो, सिंगल कॉलम में रख लो, तीन ...

Read More »

खेल, तमाशा और ‘चीयरलीडर्स’

IPL

सुशील यति | विस्मय भरे चकाचौंध और आश्चर्य-मिश्रित प्रस्तुतीकरण के साथ आईपीएल के दसवें संस्करण का समापन हुआ, आईपीएल अब सिर्फ एक खेल नहीं बल्कि अपनी उत्सवधर्मिता और भव्यता के कारण दर्शकों के लिए खेल से कहीं बढ़कर है। दूसरे शब्दों में कहें तो आईपीएल टेलीविजन का एक ऐसा उत्सव जहाँ ...

Read More »