Home / International Communication

International Communication

The Reality and Myth of Globalization

Subhash DhuliyaMJMC-GLOBALISATION  Economic, financial, trade and communications integration of world  Emergence of global village and global networked society as a result of technological revolution and integration of telecommunication, computer and world wide web ( www)  Globalization implies the opening of local and nationalistic perspectives to a broader ...

Read More »

राजनीतिक औजार

  Study in International Communication:Chapter -2 of Many Voices One World, also known as the MacBride report, was a UNESCO publication of 1980 but still relevant to understand contemporary communication issues. The publication is a classic in the study of communication. The commission was chaired by Irish Nobel laureate Seán ...

Read More »

समकालीन वैश्विक मीडिया: राजनीतिक, सामाजिक और संस्कृतिक जीवन का मनोरंजनीकरण

सुभाष धूलिया मीडिया उद्योग एक तरह के सांस्कृतिक और वैचारिक उद्योग हैं। इन उद्योगों पर नियंत्रण का अर्थ होता है किसी देश की राजनीति और संस्कृति पर नियंत्रण. दुनिया के अनेक देशों में अमेरिकी सांस्कृतिक आक्रमण को लेकर असंतोष पनप रहा है जिनमें केवल विकासशील देश ही नहीं  बल्कि यूरोप के अनेक विकसित  ...

Read More »

समकालीन वैश्विक मीडिया: मीडिया का निगमीकरण

सुभाष धूलिया समकालीन मीडिया के निगमीकरण , केंद्रीकरण और विकेंद्रीकरण की प्रक्रियाएं एक साथ चल रही हैं। मीडिया संघटन एक तो खुद  व्यापारिक निगम बन गए हैं और दूसरी और पूरी तरह विज्ञापन उद्योग पर निर्भर हैं । एक ओर तो नई प्रौद्योगिकी और इंटरनेट ने किसी भी व्यक्ति विशेष ...

Read More »

समकालीन वैश्विक मीडिया: सूचना का अंत और मनोरंजन आगमन

सुभाष धूलिया तानाशाहियों की तुलना में मुक्त समाजों में  सेंसरशिप    असीमित रूप से कही अधिक परिष्कृत और गहन होती है क्योंकि  इस से असहमति को चुप कराया जा सकता है और प्रतिकूल तथ्यों को छिपाया जा सकता है- जोर्ज ऑरवेल आज की दुनिया औपचारिक रूप से अधिक लोकतान्त्रिक है लेकिन फिर ...

Read More »

अंतरराष्ट्रीय संचार में समकालीन प्रवृत्तियां और भविष्य की आहटें

शिवप्रसाद जोशी। शीत युद्ध में वर्चस्व और विचार की लड़ाई सबसे ऊपर थी। 1990 के दशक से संसाधनों पर कब्ज़े की लड़ाई का दौर शुरू होता है। जब दशक की शुरुआत में अमेरिका ने इराक़ पर हमला बोल दिया। रासायनिक हथियारों को नष्ट करने की आड़ में हुए इस हमले ...

Read More »