Home / प्रो. अशोक ओग्रा

प्रो. अशोक ओग्रा

प्रो. अशोक ओग्रा
प्रो. अशोक ओग्रा

प्रो. अशोक ओग्रा ने अपना कैरियर ‘द ट्रिब्यून’ के साथ शुरू किया। उसके पश्चात दूरदर्शन मे प्रोड्यूसर, न्यूज़ एवं करंट अफेयर्स) बने और संघ लोक सेवा आयोग के द्वारा निदेशक के लिए चयनित हुए. इन्होंने 1995में डिस्कवरी चैनल को स्थापित करने के लिए सरकारी सेवा त्याग दी। तत्पश्चात एनिमल प्लेनेट, जहाँ पर उन्होंने दक्षिण एशिया क्षेत्र के वरिष्ठ उपाध्यक्ष के रूप में कार्य किया उन्हें डिस्कवरी चैनल नेटवर्क की स्थापना करने एवं उसे दक्षिण एशिया भू-भाग में सबसे प्रशंसनीय ब्रांड बनाने का श्रेय जाता है I अशोक ने प्रतिष्ठित फिल्म इंस्टिट्यूट पुणे में अध्यापन भी किया ।

ओग्रा राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों के चयन मंडल के सदस्य भी रहे. साथ ही यूनेस्को-सिमका वीडियो प्रतियोगिता `सामुदायिक रेडियोनिर्णायक मंडल के अध्यक्ष रूप में कार्य किया और इएनबीए एवार्ड, 2015 में समाचार प्रसारण पुरस्कार चयन मंडल के सदस्य रहे.वह एमसीआरसी, जामिया मिलिया इस्लामिया,राजस्थान विश्वविद्यालय,जम्मू विश्वविद्यालय के शैक्षिणिक बोर्ड में भी रहे और वर्तमान में भारत के प्रथम लिबरल आर्ट विश्वविद्यालय एपीजे सत्या विश्वविद्यालयके अवतैनिक सलाहकार है और शैक्षणिक संचार के कन्सोर्टियम,यूजीसीसे सम्बधित है.

वे मीडिया और प्रबंधन विषयों पर व्याख्यान देने वाले सबसे पसंदीदा विशेषज्ञ है।वे विभिन्न मीडिया एवं प्रबंधन विषयों पर जम्मू कश्मीर के प्रसिद्ध अंग्रेजी समाचार पत्रों में निरन्तर लिखते हैं. वे वर्तमान में एपीजे मास कम्युनिकेशन द्वारिका नई दिल्ली में निदेशक हैं। यह आउटलुक मैगजीन जुलाई 2014 संस्करण के शीर्ष दस मीडिया संस्थानों में था।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *