Home / कम्युनिकेशन

कम्युनिकेशन

दुनिया एक, स्वर अनेक : संचार और समाज, ऐतिहासिक आयाम

International-Communication

Many Voices One World, also known as the MacBride report, was a UNESCO publication of 1980 but still relevant to understand contemporary communication issues. The publication is a classic in the study of communication. The commission was chaired by Irish Nobel laureate Seán MacBride. Among the problems the report identified were concentration of the media, ...

Read More »

संचार के दायरे को तोड़ता सोशल मीडिया

social-media

विनीत उत्पल | सोशल मीडिया एक तरह से दुनिया के विभिन्न कोनों में बैठे उन लोगों से संवाद है जिनके पास इंटरनेट की सुविधा है। इसके जरिए ऐसा औजार पूरी दुनिया के लोगों के हाथ लगा है, जिसके जरिए वे न सिर्फ अपनी बातों को दुनिया के सामने रखते हैं, ...

Read More »

साक्षात्कार लेना भी एक कला है…

interview

महेंद्र नारायण सिंह यादव। पत्रकारिता में साक्षात्कार लेना सबसे महत्वपूर्ण और सर्वाधिक इस्तेमाल में आने वाला कार्य है। साक्षात्कार औपचारिक हो सकता है, जो साक्षात्कार के रूप में सीधे ही प्रकाशित या प्रसारित किया जाता है, और अनौपचारिक भी हो सकता है, जिसके जरिए मिलने वाली जानकारी को पत्रकार अपनी ...

Read More »

विज्ञान के किसी भी विषय पर पुस्तक लिखिए- पेड़-पौधों, कीट-पतंगों, पशु-पक्षियों, धरती और आकाश के बारे में

science-writing

देवेंद्र मेवाड़ी। आप विज्ञान लेखक बनेंगे तो देखिए लिखने के लिए कितनी संभावनाएं हैं। अच्छा लिखने के लिए लगातार लिखते रहना जरूरी है। आपके भीतर अगर लिखने का ऐसा जुनून है और उसे आप बनाए रखते हैं तो आप जरूर सफल होंगे और एक दिन सफल विज्ञान लेखक बनेंगे कॉमिक्सः ...

Read More »

खबरों का खेल बनाम एजेंडा सेटिंग

agenda-setting-theory

विनीत उत्पल | मालूम हो कि एजेंडा सेटिंग तीन तरीके से होता है, मीडिया एजेंडा, जो मीडिया बहस करता है। दूसरा पब्लिक एजेंडा जिसे व्यक्तिगत तौर पर लोग बातचीत करते हैं और तीसरा पॉलिसी एजेंडा जिसे लेकर पॉलिसी बनाने वाले विचार करते हैं। इस बात से इंकार नहीं किया जा ...

Read More »

एफ.एम. क्रांति से हुआ रेडियो का पुनर्जन्म

internet

डॉ. देवव्रत सिंह। रेडियो शब्द की उत्पत्ति लैटिन भाषा के शब्द रेडियस से हुई है। रेडियस का अर्थ है एक संकीर्ण किरण या प्रकाश स्तंभ जो आकाश में इलैक्ट्रो मैग्नेटिक तरंगों द्वारा फैलती है। ये विद्युत चुंबकीय तरंगे संकेतों के रूप में सूचनाओं को एक स्थान से दूसरे स्थान तक ...

Read More »

सोशल मीडिया की बढ़ती पैठ और स्त्री विमर्श

Women-Power-Social-Media

पारुल जैन। सोशल मीडिया जैसे की नाम से ही ज़ाहिर है, एक ऐसा चैनल जो सोशल होने में मदद करे। मनुष्य जन्म से ही सामाजिक प्राणी है। वो समाज में रहता है और लोगों से संपर्क बनाना चाहता है। अगर हम एक परिवार की बात करें तो घर के पुरुष ...

Read More »

मैगी की वापसी, लेकिन अब ग्राहकों के पास विकल्प हैं

maggi-welcome-back

आशीष कुंमार ‘अंशु’। मैगी की वापसी में बड़ी भूमिका अमेरिका की जनसंपर्क कंपनी एपको की मानी जा रही है। एपको से पहले जनसंपर्क का काम नेसले के लिए एपिक देखता था जब आप यह लेख पढ़ रहे हैं, मैगी के रास्ते की सारी बाधाएं एक एक कर दूर हो चुकी ...

Read More »

भाषा की बधिया वक्‍त के सामने बैठ जाती है

Indian-Languages

कुमार मुकुल। धूमिल ने लिखा है – भाषा की बधिया वक्‍त के सामने बैठ जाती है। इधर हिन्‍दी के लेखक, कवि और पत्रकार जिस तरह भाषा को बरत रहे हैं उसे देखकर उसकी बधिया बैठती नजर आती है। अपने एक वरिष्‍ट और प्रिय कवि के यहां भी जब एक कविता ...

Read More »

सोशल नेटवर्किंग के दौर में इंटरनेट बिन सून

internet

विकास कुमार। बंगलुरू में रहने वाले एक दंपति अपने 18 वर्षीय बेटे को लेकर थोड़ा परेशान हैं। इनका बेटा आजकल इंटरनेट और सोशल नेटवर्किंग साईट्स पर हद से ज्यादा समय बिता रहा है। इस वजह से वह पढ़ाई में लगातार पीछे होता जा रहा है। सुबह नाश्ते की टेबल से ...

Read More »

भाषा की बधिया वक्‍त के सामने बैठ जाती है

Indian-Languages

कुमार मुकुल। धूमिल ने लिखा है – भाषा की बधिया वक्‍त के सामने बैठ जाती है। इधर हिन्‍दी के लेखक, कवि और पत्रकार जिस तरह भाषा को बरत रहे हैं उसे देखकर उसकी बधिया बैठती नजर आती है। अपने एक वरिष्‍ट और प्रिय कवि के यहां भी जब एक कविता ...

Read More »