Home / Tag Archives: महेंद्र नारायण सिंह यादव

Tag Archives: महेंद्र नारायण सिंह यादव

रेडियो समाचार प्रस्तुति : संकलन से लेकर वाचन तक

on-air-radio-microphone

महेंद्र नारायण सिंह यादव। आज के इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के युग में इलेक्ट्रॉनिक मीडिया से सामान्य तात्पर्य टीवी चैनल ही हो गया है, लेकिन वास्तव में रेडियो भी इसका अभिन्न प्रकार है। सच तो यह है कि टीवी चैनलों का युग शुरू होने से पहले इलेक्ट्रॉनिक मीडिया का मतलब रेडियो ही ...

Read More »

अनुवाद और हिंदी पत्रकारिता

hindi_2

महेंद्र नारायण सिंह यादव सामान्य तौर पर अनुवाद को पत्रकारिता से अलग, और साहित्य की एक विशिष्ट विधा माना जाता है, जो कि काफी हद तक सही भी है। हालाँकि हिंदी पत्रकारिता में अनुवाद कार्य एक आवश्यक अंग के रूप में शामिल हो चुका है और ऐसे में हिंदी तथा ...

Read More »

साक्षात्कार लेना भी एक कला है…

interview

महेंद्र नारायण सिंह यादव। पत्रकारिता में साक्षात्कार लेना सबसे महत्वपूर्ण और सर्वाधिक इस्तेमाल में आने वाला कार्य है। साक्षात्कार औपचारिक हो सकता है, जो साक्षात्कार के रूप में सीधे ही प्रकाशित या प्रसारित किया जाता है, और अनौपचारिक भी हो सकता है, जिसके जरिए मिलने वाली जानकारी को पत्रकार अपनी ...

Read More »

मानवाधिकार उल्लंघन और पत्रकारिता

human-rights

महेंद्र नारायण सिंह यादव। मीडिया का काम सत्ता पर नजर रखना, उसकी मनमानी पर अंकुश लगाने की कोशिश करना, उसके गलत कार्यों को जनता के सामने लाना भी है। मानवाधिकार संरक्षण का वह महत्वपूर्ण कारक है। हालाँकि यह भी सही है कि मानवाधिकार खुद मीडिया के लिए भी जरूरी है। ...

Read More »

…सवाल ये कि हम पत्रकार बनें ही क्यों?

journalist2

महेंद्र नारायण सिंह यादव। अगर आप पत्रकारिता कर रहे हैं या पत्रकारिता के क्षेत्र में आना चाहते हैं तो एक सवाल का सामना आपको कहीं न कहीं ज़रूर करना पड़ा होगा या पड़ सकता है कि आप पत्रकार क्यों बनना चाहते हैं। आखिर आप अपने सामने मौजूद तमाम आकर्षक पेशों ...

Read More »

विज्ञान पत्रकारिता : चुनौतियां और कार्यक्षेत्र

science_journalism

महेंद्र नारायण सिंह यादव।  सामान्य धारणा यह है कि पत्रकारों को बुनियादी जानकारी तकरीबन हर विषय की होनी चाहिए, जो कि सही भी है। हालाँकि कुछ क्षेत्र ऐसे भी हैं जिनके लिए विषय विशेषज्ञों की आवश्यकता पड़ती ही है। विज्ञान पत्रकारिता के साथ भी ऐसा ही है। विज्ञान पत्रकारिता के ...

Read More »