Home / Tag Archives: Vikas Kumar

Tag Archives: Vikas Kumar

सड़क किनारे साहित्य

Roadside-Literature

विकास कुमार। श्रीराम सेंटर के गेट से निकलते ही सामने सड़क किनारे लगी किताबों की एक दुकान पर नजर बरबस ही ठहर जाती है। एक अधेड़ उम्र की महिला ग्राहकों को किताबें दिखाने और बेचने में व्यस्त है। कुछ साल पहले जिंदगी ऐसी नहीं थी। श्रीराम सेंटर के अंदर वाणी ...

Read More »

‘साहित्य में तुम मेरी पीठ खुजाओ, मैं तुम्हारी खुजाता हूं… बेहद आम बात है

litrature

हिंदी अपराध लेखन में शीर्ष लेखकों में शुमार सुरेंद्र मोहन पाठक का मानना है कि लोकप्रिय साहित्य का पाठक अपने लेखक की हैसियत बनाता है, खालिस साहित्यकार इस हैसियत से वंचित हैं। विकास कुमार की उनसे खास बातचीत विकास कुमार आपने एक साक्षात्कार में बताया था कि उर्दू और बंग्ला ...

Read More »